in

वर्ल्ड क्रिकेट के कुछ लाजवाब तथ्य

आप अपने आप को अगर बहुत बड़ा क्रिकेट प्रेमी मानते हैं तो तो आज आपकी गलतफहमी को दूर करेंगे क्या बुरा ना मानिए यदि आप क्रिकेट के कुछ कमाल के तथ्य पहले से जानते थे तो आप सचमुच में क्रिकेट के बहुत बड़े फैन हैं

  1. शाहिद अफरीदी ने जो सबसे तेज शतक बनाया था उसके लिए उन्होंने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का बल्ला इस्तेमाल किया था क्या आप यह जानते थे ?
    यह मैच 1996 में श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच खेला गया था जब शाहिद अफरीदी को बैटिंग के लिए भेजा गया था तो उस समय उनके पास एक ढंग का बैट तक भी नहीं था उस समय वक़ार यूनिस ने अफरीदी को खेलने के लिए तेंदुलकर का बल्ला दिया था शाहिद अफरीदी ने उसी बैट से 11 छक्के और 6 चौके जड़ते हुए विपक्षी टीम के खिलाफ मात्र 37 गेंद पर अपना शतक पूरा किया था बाद में शाहिद ने सबसे तेज शतक बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था हालांकि काफी समय बाद कोरी एंडरसन नाम के प्लेयर ने 36 गेंद पर शतक बनाकर या रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था ।

2 . क्या आप जानते हैं सचिन तेंदुलकर से टेस्ट मैच में बेहतर रिकॉर्ड उनके दोस्त कांबली का हैं

Vinod Kambli , Sachin R Tendulkar

विनोद कांबली का टेस्ट कैरियर काफी छोटा है वे सिर्फ 17 मैच खेले हैं जो कि उनके बचपन के दोस्त सचिन तेंदुलकर के मुकाबले बहुत ही कम है लेकिन अगर एवरेज की बात की जाए तो सचिन तेंदुलकर से विनोद कांबली कहीं आगे है 17 मैचों में टेस्ट एवरेज 54 पॉइंट 20 का है और सचिन तेंदुलकर का 200 टेस्ट मैचों में एवरेज सिर्फ 53 पॉइंट 78 है ।

Allan Border

3. ऑस्ट्रेलिया के महान क्रिकेटर एलन बॉर्डर लगातार 153 टेस्ट मैच खेलने वाले दुनिया के इकलौते प्लेयर है सबसे ज्यादा टेस्ट मैच लगातार खेलने का यह रिकॉर्ड उनके नाम है

4. सुनील गावस्कर ने कैरियर में तीन टेस्ट मैचों की पहली बॉल पर आउट होने का अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज किया हुआ है

अपने समय के महान बल्लेबाजों में शामिल सुनील गावस्कर तीन टेस्ट मैचों में पहली ही बॉल पर आउट हुए हैं पहली बार 1974 में इंग्लैंड के जियोफ आर्नोल्ड ने गावस्कर को अपनी पहली गेंद पर आउट कर दिया था दूसरी बार 1984 में कोलकाता में वेस्टइंडीज के मेल्कम मार्शल ने आउट किया था और तीसरी बार 1987 में जयपुर में पाकिस्तान के इमरान खान ने आउट किया था

5.

क्या आप जानते हैं भारत एकमात्र ऐसा देश है इसने वर्ल्ड क्रिकेट में 60 ओवर, 50 ओवर का एक और 20 ओवर का एक वर्ल्ड कप जीता है

1983 Kapil Dev , 2007 MS Dhoni , 2011 Ms dhoni


क्रिकेट के शुरुआती दौर में एकदिवसीय मैच 60 ओवर के होते थे जब कपिल देव की कप्तानी में 1983 का वर्ल्ड कप भारत जीत का लाया था तब मैं वर्ल्ड कप 60 ओवर का था, 2011 का आप जानते ही है तब 50 OVER का था, और 2007 में जो पहला टी-20 विश्वकप हुआ था वह भी इंडिया ने अपने नाम किया हुआ है तो है ना अपने आप में एक अनोखा रिकॉर्ड

खेल की ऐसी ही और रोचक जानकारियों के लिए जुड़े रहे हमसे

What do you think?

Written by playon

वेस्टइंडीज़ नहीं है कोई देश? जानें हक़ीक़त-

क्या आप जानते हैं महिला क्रिकटर्स को कितनी फीस मिलती हैं सालाना ?