in

बदलेगा मेडल का रंग, सोना जीतने पर होगी नज़र-साक्षी मालिक

रियो ओलंपिक में देश को कुश्ती में कांस्य पदक दिलाने वाली महिला पहलवान साक्षी मलिक की नजर अब टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने पर है। उनका कहना है कि महिला पहलवानों को भी पुरुष पहलवानों की तरह सम्मान दिया जाना चाहिए, क्योंकि वे भी पुरुष पहलवानों से कम मेहनत नहीं करतीं। वह बुधवार को पति सत्यव्रत के साथ धर्मनगरी पहुंचीं।
साक्षी ने रियो ओलंपिक में 58 किलो भार वर्ग की फ्रीस्टाइल कुश्ती में कांस्य पदक जीतना इतिहास रचा था। साक्षी ने रियो ओलंपिक में भारत को पहला पदक दिलाया था। उन्होंने इस पल को अपने लिए ऐतिहासिक बताया।
हाल ही में पद्मश्री अवार्ड मिलने पर भारतीय पहलवान साक्षी मलिक ने कहा कि यह सम्मान उनके लिए सौभाग्य की बात है। वह चाहती हैं कि महिलाओं को इसी तरह सम्मान देकर उनके मनोबल को और बढ़ाना चाहिए। जब कोई देश के लिए कुछ अच्छा करता है तो सरकार को भी उसके लिए कुछ ऐसा करना चाहिए, जिससे उसकी मेहनत को पहचान मिले।

What do you think?

Written by playon

FIFA की रैंकिंग मैं भारत को मिली जबरदस्त बढ़त

बदली कुश्ती, नहीं मिलेगा 4 मिनट से ज्यादा मेडिकल टाइम